राष्ट्र गान

राष्ट्र गान जन-गण-मन-अधिनायक जय हे भारतभाग्यविधाता| पंजाब सिन्धु गुजरात मराठा द्राविड़ उत्कल बंग|| विंध्य हिमाचल जमुना गंगा उच्छलजलधितरंग||१|| तव शुभ…

Continue Reading →

वन्दे मातरम्

वंदेमातरम्(राष्ट्रगीत) वन्दे मातरम् सुजलां सुफलां मलयजशीतलाम् शस्य श्यामलां मातरं । शुभ्र ज्योत्स्ना पुलकित यामिनीम् फुल्ल कुसुमित द्रुमदलशोभिनीम्, सुहासिनीं सुमधुर भाषिणीम्…

Continue Reading →

भोजन मंत्र

भोजनकाले उच्चारणया मंत्र: ॐ ब्रह्मार्पणं ब्रह्मा हविर्ब्रह्माग्नौ ब्रह्मणाहुतं| ब्रह्मैव तेना गन्तव्यंब्रह्म कर्म समाधिना||(गीता) ॐ सहनाववतुसहनौ भुनक्तु सहवीर्यं करवावहै| तेजस्विनावधीतमस्तुमा विद्विषा…

Continue Reading →

एकात्मता मंत्र

एकात्मता मंत्र यं वैदिका मन्त्रदृशः पुराणाः इन्द्रं यमं मातरिश्वा नमाहुः। वेदान्तिनो निर्वचनीयमेकम् यं ब्रह्म शब्देन विनिर्दिशन्ति॥ शैवायमीशं शिव इत्यवोचन् यं…

Continue Reading →

एकात्मता स्तोत्र

एकात्मता स्तोत्र ॐ सच्चिदानंदरूपाय नमोस्तुते परमात्मने ज्योतिर्मयस्वरूपाय विश्वमांगल्यमूर्तये॥१॥ ॐ, सत्य, चित और आनंद रुप, प्रकाश स्वरुप, विश्व कल्याण के धाम…

Continue Reading →

प्रातः स्मरण

प्रातः स्मरण काराग्रे वसते लक्ष्मीः करमध्ये सरस्वती। करमूले तू गोविन्दः प्रभाते करदर्शनम्।।1।। समुन्द्रवसने देवि! पर्वतस्तनमण्डले। विष्णुपत्नि!नमस्तुभ्यंपादस्पर्शं क्षमस्व मे।।2।। ब्रह्मा मुरारीस्त्रिपुरांतकारी…

Continue Reading →

सरस्वती वन्दना

या कुन्देन्दु- तुषारहार धवला या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता। या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना॥ या ब्रह्माच्युत शंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता। सा माम् पातु…

Continue Reading →